Captcha code kya hai

Captcha code kya hai hindi में जाने अब सारी चीजों को – 2020 अपडेट

इन्टरनेट पर किसी भी information को सिक्योर करने के लिए सबसे अच्छी चीज कैप्चा कोड है। लेकिन सबसे पहले हमे पता होना चाहिए captcha code kya hai.

अगर आप इंटरनेट पर समय बिताते हैं तो आपको कभी ना कभी कैप्चा कोड से सामना करना पड़ा होगा।

लेकिन हम में से 90% लोग यह नहीं जानते कि आखिर captcha code kya hai ?

अक्सर किसी ब्लॉग पे कमेंट करते समय, या फिर कहीं पर account रजिस्टर करते समय भी आपको कैप्चा कोड solve करना पड़ा होगा।

कैप्चा कोड ज्यादातर आपको तभी मिलेगा जब आप किसी नई वेबसाइट पर रजिस्टर कर रहे होते हैं।

इसे सॉल्व करना इरिटेटिंग है और किसी को भी अच्छा नहीं लगता है, लेकिन सिक्योरिटी के हिसाब से कैप्चा कोड बहुत ही अच्छी चीज है।

और आज हम इस पोस्ट के जरिए कैप्चा कोड के बारे में सारी चीजें जानेंगे जैसे captcha code kya hai, captcha code के फायदे क्या हैं, captcha code के नुकसान क्या हैं, कैप्चा कोड कैसे लिखते हैं कैप्चा कोड कैसे सॉल्व करते हैं आदि।

तो चलिए हम यह सारी चीजें अपने पोस्ट में एक एक करके जानते हैं।


Captcha code kya hai in hindi

Captcha code

कैप्चा कोड एक प्रकार का टेस्ट है जो आपको solve करना होता है किसी भी new ऑनलाइन registration या form भरने के लिए।

इसकी सबसे खास बात यह है, इसे सिर्फ मनुष्य ही पढ़ सकते हैं।

इसका उपयोग सिक्योरिटी टेस्ट, रोबोट्स और ऑनलाइन spam को avoid करने के लिए उपयोग किया जाता है।

आप पूरा फॉर्म या ब्लॉग कमेंट लिखने के बाद भी जब तक कैप्चा सॉल्व नहीं करेंगे आपका अपना काम पूरा नहीं कर सकते।

कैप्चा जहां आपको इंटर करना होता है उसके ऊपर आपको एक इमेज दिखाया जाएगा, जिसमें कोई भी नंबर या अल्फाबेट लिखा होता है।

उसे पढ़कर आपको नीचे दिए गए खाली बॉक्स में भरना होता है, उसके बाद जैसे ही आप सबमिट बटन पर क्लिक करेंगे कैप्चा सॉल्व हो जाता है।

आप अपने वेबसाइट पर भी कैप्चा कोड का इस्तेमाल करके सुरक्षा बढ़ा सकते हैं और स्पैम को बहुत कम कर सकते हैं।
चलिए मैं एक उदाहरण ले कर बताता हूं जिससे आपको समझने में ज्यादा आसानी होगी।

नीचे दिए गए स्क्रीनशॉट में आप देखिए वहां आपको कुछ नंबर या लेटर भरने को मिलेगा।

और नीचे दिए गए बॉक्स में आप उसे जैसे ही फील करके सबमिट बटन पर क्लिक कीजिएगा आपके स्क्रीन पर captcha code सॉल्व हो जाएगा।

कैप्चा में कुछ गलतियां आमतौर पर सबसे हो जाती हैं जैसे कि छोटे “l” को लोग 1 या i समझ लेते हैं या फिर बड़े लेटर में जीरो को छोटे लेटर का जीरो फिल कर देते हैं।

इसके अलावा कुछ लोगों को आप गलती करते देखेंगे कि वह o (letter o) को 0 (zero) लिख देते हैं।

यह आम गलतियां हैं जो captcha code भरते समय सबसे होती है।

कैप्चा कोड सिक्योरिटी के लिहाज से बहुत ही उत्तम चीज है और मैं भी recommend करता हूं कि आप भी अपने वेबसाइट पर इसका इस्तेमाल जरूर करें।

कैप्चा कोड आपको किसी भी फॉर्मेट में मिल सकता है जैसे की इमेज, टेक्स्ट और नंबर और यह ऑटोमेटिकली प्रोग्राम किया होता है, जिससे कि OCR भी इसे पढ़ नही सकता।


Captcha code Full form

बहुत लोगों के मन में यह बात उठती है कि कैप्चा कोड का फुल फॉर्म क्या है।

या फिर आप किसी competition के question पेपर में भी प्रसन्न के तौर पर इसे देख सकते हैं।

तो आइए मैं आपको बताता हूं कैप्चा का फुल फॉर्म असल में है क्या।

Captcha – completely automated public Turing test to tell computers and humans apart

captcha code का फुल फॉर्म हिंदी में

कैप्चा – कंपलीटली ऑटोमेटेड पब्लिक टयूरिंग टेस्ट डिटेल कंप्यूटर्स एंड हुमैनस अपार्ट

कैप्चा कोड का फुल फॉर्म देखकर ही बहुत हद तक समझ में आ जाता है कि यह एक टेस्ट है।

जो कंप्यूटर या मशीन जो भी कह लीजिए उसको इंसानों से अलग treat करने के लिए किया जाता है।

इसका का main मकसद है कंप्यूटर के मदद से ऑटोमेशन के द्वारा जो स्पैम होता है उसको रोकना।


Captcha code कब आया – कैप्चा कोड का इतिहास

Luis von ahn और उनकी team ने दुनिया से साझा किया के कैप्चा कोड का आविष्कार सन 1997 में दो टीम के द्वारा किया गया था।

जैसा कि हम जानते हैं इंटरनेट का प्रचलन सन 1990 के बाद ज्यादा बढ़ा है, तो कैप्चा कोड का भी अस्तित्व ज्यादा पुराना नहीं है।

इसका पहला कमर्शियल उपयोग सन 2000 में गौसबेक लेवचिन टेस्ट के द्वारा किया गया था।

उन्होंने इसका इस्तेमाल अपने वेबसाइट idrive.com पर sign-up पेज को सिक्योर करने के लिए किया था।

उसके बाद PayPal ने सन 2001 में इसका उपयोग फ्रॉड को कम करने के उपलक्ष्य में human से distorted text लिखवाता था जिससे कि फ्रॉड बहुत हद तक कम हो गया था।

कैप्चा कोड के सफल होने के बाद काफी बड़ी-बड़ी कंपनी जैसे yahoo search engine ने भी इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया, जिससे कि लोगों को धोखाधड़ी और स्पैम से बचाया जा सके।

कैप्चा कोड का प्रचलन में आने का सबसे बड़ा कारण है सिक्योरिटी प्रदान करना।

इसके इस्तेमाल से सिक्योरिटी काफी हद तक बढ़ जाता है और spam, fraud काफी हद तक घट जाता है।

आज के समय में आपको कैप्चा हर जगह मिल जाएगा जहां पर कुछ सिक्योरिटी रीजंस हो।

यहां तक कि आपको कीवर्ड रिसर्च करने वाले बहुत सारे पॉपुलर टूल्स में भी कैप्चा solve करना पड़ता है जैसे ahrefs.com और ubersuggest.com ahrefs.com में आपको I’m not reboot वाला कैप्चा मिलता है, जबकि ubersuggest में इमेज वाला कैप्चा मिलता है।

इसके अलावा आप बहुत सारे वेबसाइट पर ब्लॉग कमेंट में भी देखेंगे कैप्चा सॉल्व करना पड़ रहा है, किसी भी प्रकार का कमेन्ट करने के लिए।


Captcha कोड कैसे काम करता है – Working of captcha code

कैप्चा कोड का प्रोग्राम ऑटोमेटेड होता है, और वह हर बार एक नया code ऑटोमेटिकली क्रिएट करता है।

इस कोड को मुख्य रूप से सिक्योरिटी बढ़ाने के लिए क्रिएट किया जाता है।

प्रोग्राम को इस प्रकार से लिखा जाता है, जिससे हर बार एक नया कोड यूजर के सामने रखा जा सके।

वह कोड किसी भी रूप में आपके सामने रखा जा सकता है।

जैसे की इमेज टेक्स्ट या फिर अल्फाबेटिक फॉर्म में।

और जैसे ही आप उसको पहचान के नीचे दिए गए बॉक्स में उसका सलूशन फील करते हैं वह code solve हो जाता है।

लेकिन इस कोड को कोई भी रोबोट या मशीन सॉल्व करने में सक्षम नहीं है।


Captcha code kaise solve kare

अगर आपके सामने कैप्चा कोड आता है तो इसमें ज्यादा सोचने की कोई बात नहीं है, आप इसे बहुत ही आसानी से सॉल्व कर सकते हैं।

आपको बस समझना है कि आखिर वह कैप्चा किस कैटेगरी का है उस हिसाब से आप उसका solution करें।

  • अगर इमेज पजल वाला captcha है तो आप करेक्ट इमेजेस सेलेक्ट करके उस कैप्चा कोड को सॉल्व कर सकते हैं।
  • text based वाले captcha code को तस्वीर में दिए गए टेक्स्ट को बॉक्स में इंटर करके सॉल्व कर सकते हैं।
  • कुछ कोड आपको अल्फाबेट based भी मिलेंगे इसको सॉल्व करने के लिए आपको अल्फाबेट्स पहचान के बॉक्स में फिल करना होगा।
  • text और alphabet दोनों मिक्स करके भी कैप्चा कोड आपके सामने आ सकता है, इस तरह के कैप्चा कोड को सॉल्व करने के लिए टेक्स्ट और अल्फाबेट दोनों को पहचान के बॉक्स में फील करना होता है।
  • कुछ कच्चा कोड arithmetic solution मांगते हैं जैसे कि जोड़ना घटाना। उदाहरण के तौर पर 24+32 दे दिया, तो आपको इसका जोड़ करके सॉल्यूशन लिखना पड़ेगा।
  • लेकिन ज्यादातर आपको यूजर बेस्ट कैप्चा कोड मिलेगा जिसमें आपको सिर्फ I’m not reboot बॉक्स में टिक करना होता है और captcha solve हो जाता है, यह बहुत ही आसान कैप्चा कोड में से एक है।
  • इसके बाद अगर आपको कभी सोशल ऑथेंटिकेशन कैप्चा कोड solve करने मिल जाए तो आपको अपने common sense का इस्तेमाल करके solve करना पड़ेगा, क्योंकि उसमें आपके फ्रेंड या फिर कुछ फोटोस आपके द्वारा अपलोड किए गए हो उसका पजल दे दिया जाता है।

इस प्रकार आप डिफरेंट-डिफरेंट कैटेगरी के कैप्चा कोड को डिफरेंट-डिफरेंट तरीके से सॉल्व कर सकते हैं।

लेकिन text based कैप्चा कोड सॉल्व करते समय आपको ध्यान पूर्वक देखना होगा।

क्योंकि कुछ स्मॉल लेटर्स के लिखने का ढंग कैपिटल लेटर से मिलता जुलता है जिससे कि गलती होने का चांस ज्यादा रहता है।


Captcha कोड का इस्तेमाल क्यूं करते हैं

कैप्चा कोड का इस्तेमाल आमतौर पर सिक्योरिटी रीजंस के वजह से किया जाता है।

जिससे कि हुमन के अलावा रोबोट्स या फिर कोई भी कंप्यूटर्स आपके वेबसाइट के सिक्योरिटी sensitive चीजों को एक्सेस ना कर सके।

Captcha कोड ऑटोमेटिक टेस्ट कोड है, जिसके उपयोग से हैकर्स, स्पैमर्स इन सभी को रोकने में काफी आसानी हो जाती है।

हर वेबसाइट पर कुछ पर्सनल चीजें होती हैं, जोकि काफी सिक्योरिटी सेंसिटिव होती है।

और अगर कोई रोबोट्स उसको access करता है तो आपकी पर्सनल सिक्योरिटी लीक हो सकती है, जोकि काफी नुकसानदायक है प्राइवेसी के लिहाज से।

तो हम कैप्चा का उपयोग करके इन सारी चीजों से अपनी वेबसाइट को बचा सकते हैं।

कभी फॉर्म भरने से पहले आपको ज्यादातर कैप्चा मिलेगा क्यूंकि अगर कैप्चा सॉल्व करने का प्रॉब्लम ना रहे तो कोई भी रोबोट या कंप्यूटर के द्वारा भी यह काम आसानी से किया जा सकता है वह भी ऑटोमेशन के जरिए।

जिससे कि काफी हद तक नुकसान होता है high सिक्योरिटी वाली चीजों को।

जिससे स्पैम और फ्रॉड भी ज्यादा बढ़ जाते हैं।

कैप्चा का उपयोग करके इन सारी चीजों को avoid किया जा सकता है।

आप बड़ी से बड़ी टेक कंपनी से लेकर छोटी से छोटी पर्सनल सर्विस वेबसाइट तक कैप्चा देख सकते हैं।

आज के समय में हर कोई कैप्चा का प्रयोग कर रहा है इन्फॉर्मेशन को secure रखने के लिए।


Captcha कोड के प्रकार – Types of captcha code

जैसा कि मैंने आपको बताया captcha code के बारे में, अब हम जानेंगे कि कैप्चा कोड के प्रकार कौन से कौन हैं?

क्योंकि आप कैप्चा कोड बहुत सारे फॉर्मेट में देखते होंगे जैसे की इमेज टेक्स्ट और नंबर।

लेकिन इनके अलावा भी कैप्चा के कुछ प्रकार हैं जिसके बारे में जानना बहुत जरूरी है।

तो आइए हम आपको एक-एक करके सारे प्रकार के बारे में बताते हैं।

1. Image recognition based captcha

इमेज रिकॉग्निशन बेस्ट कैप्चा कोड में इमेज पजल मिलते हैं, जिसमें आपको स्पेसिफिक वस्तु पहचानना होता है, जैसे कि ट्रैफिक लाइट्स और रोड crossing आदी।

आपको Description मिल जाएंगे उससे जुड़ी इमेज पहचान के टिक करके वेरीफाई करना होता है।

2. Text recognition based captcha code

इस तरह के कैप्चा कोड में आपको alphabets और numbers मिलते हैं जिसको पहचान कर बॉक्स में लिखकर वेरीफाई करना होता है।

टेक्स्ट बेस्ड कैप्चा कोड में गलतियां होने के ज्यादा चांसेस होते हैं क्योंकि कुछ मिलते जुलते letters और numbers लिखने के ढंग के वजह से गलत लिखा जाता है।

Text based captcha code आपके सामने तीन Format में आ सकते हैं।

a. Alphabetical captcha code

अल्फाबेटिकल कैप्चा कोड में आपको अल्फाबेट्स दिए होते हैं, और उनको पहचान के बॉक्स में फिल करना होता है।

लेकिन स्मॉल और कैपिटल अल्फाबेट में अंतर समझना यहां पर बहुत ही जरूरी होता है।

जैसे कि मान लीजिए छोटे “l” को हम “1” मान लेते हैं, जिससे कि गलतियां होने का चांस ज्यादा रहता है।

तो आप पहले ढंग से पढ़ ले उसके बाद कैप्चा कोड सॉल्व करें।

b. Numeric captcha code

Numeric captcha code में आपको number fill करने होते हैं, जो आपके सामने स्क्रीन पर दिया जाएगा।

उसको देख कर आपको नीचे दिए गए बॉक्स में भरना होगा।

c. Alphabet and number mixed captcha code

कभी-कभी आपको अल्फाबेट और नंबर को मिलाकर एक कैप्चा कोड दे दिया जाता है।

उसमें आपको दोनों चीजों को पहचान के बॉक्स में भरना होता है।

इसे सॉल्व करना कोई बड़ी बात नहीं है, आपको बस सावधानी से पढ़कर, नीचे के बॉक्स में फिल करना है।

3. Logic question based captcha code

लॉजिक क्वेश्चन कैप्चा कोड में आपको नॉर्मल से क्वेश्चन सॉल्व करने पड़ते हैं जो कि मैथमेटिक्स से जुड़े होते हैं।

जैसे – 2 +2, 184 – 24 आदी।

अगर अपने “where is my train” app का उपयोग करेंगे, वहां पर आप अगर ट्रेन में सीट चेक करते हैं, तो लॉजिक बेस्ड कैप्चा कोड का सामना करने को मिलेगा।

4. User interaction based captcha code

यह सबसे कम इरिटेशन भरा कैप्चा होता है, इसमें आपको समय भी ज्यादा देना नहीं होता।

बस आपको बॉक्स में tick करना है I’m not reboot, उसके बाद इस प्रकार के कैप्चा ऑटोमेटिकली सॉल्व हो जाते हैं।

5. social authentication based captcha code

सबसे difficult कैप्चा कोड में से एक है सोशल authentication कैप्चा कोड।

आप अगर अपने फेसबुक अकाउंट का पासवर्ड भूल चुके हैं, तो फेसबुक पासवर्ड चेंज करते समय देखा होगा कि आपसे

आपके फेसबुक फ्रेंड्स का फोटो पहचानने का puzzle दिया जाता है, जिसको आप को सॉल्व करना होता है।

इसे हम social authentication captcha code के नाम से जानते हैं।


Captcha कोड के फायदे – Advantages of captcha code

हम इस कोड को अक्सर बहुत सारे वेबसाइट owner को यूज करते हुए देखे हैं, आखिर कुछ तो फायदा होगा तभी तो वह इतना इरिटेटिंग कोड को अपने वेबसाइट पर उपयोग करते हैं।

तो आइए जानते हैं कैप्चा कोड का फायदा आखिर क्या है।

  • सिक्योरिटी बहुत ही हद तक बढ़ जाती है जिससे hackers और spammers आपके वेबसाइट को attack नहीं कर सकते।
  • Blog के कमेंट सेक्शन में spam को भी कैप्चा कोड के मदद से avoid किया जाता है।
  • आपके ब्लॉग के contact us पेज में जो पर्सनल कांटेक्ट email address होता है, उसको email scrappers से captcha code बचाता है।
  • इस कोड की मदद से आप अपने वेबसाइट को bots से बचा सकते हैं, जिससे कि आपको रियल यूजर के पेज व्यूज मिलेंगे और रेवेन्यू बढ़ता रहेगा।
  • कुछ लोग bots या फिर मशीन का यूज करते हैं बहुत सारे वेबसाइट पर अकाउंट बनाने के लिए, लेकिन कैप्चा कोड की मदद से आप अपने वेबसाइट पर अकाउंट क्रिएशन, machine और bots के द्वारा रोक सकते हैं, जिससे कि सिर्फ रियल यूजर ही अपना अकाउंट बना सकें।
  • कभी-कभी आपको अपना ब्लॉग के बिजनेस को explore करने के लिए, आपके ब्लॉग रीडर्स की राय चाहिए होती है, उसके लिए आप poll क्रिएट करके, उनसे उनके ऑपिनियन मांग सकते हैं, जिससे कि आप अपने ब्लॉग रीडर्स को अच्छे ढंग से समझ पाए और उनको अच्छी सर्विस प्रोवाइड करे।

यह फायदे ऐसे हैं जिसकी वजह से आप अपने वेबसाइट पर कैप्चा कोड ऐड करना कभी नहीं छोड़ सकते।

क्यूंकि security online presence में सबसे पहले देखा जाना चाहिए।


Captcha कोड के नुकसान – Disadvantages of captcha code

जैसा कि मैंने आपको कैप्चा कोड के फायदे को बताया, वैसे ही इसके कुछ नुकसान भी है।

क्योंकि दुनिया में किसी भी वस्तु का सिर्फ फायदा नहीं है उसका नुकसान भी जरूर होता है।

उसी तरह यहां पर भी कैप्चा कोड के कुछ नुकसान हैं जो मैं आपको नीचे lists के तौर पर बता रहा हूं।

  • कैप्चा कोड ऑटोमेटिक जनरेट किया जाता है, और इसका एक algorithm होता है। कैप्चा कोड जनरेट करने का मुख्य मकसद है कि रोबोट इसे ना पढ़ सके। लेकिन कुछ समय ऐसा कैप्चा कोड आपके सामने आ जाएगा कि जाएगा कि आप भी उसे सॉल्व बहुत मुश्किल से कर पाएंगे। जो letter और number उसमें दिए रहते हैं आपको समझने में दिक्कतें आएंगी, आपको फिर से पेज को रिफ्रेश करके नया कैप्चा कोड सॉल्व करना पड़ सकता है।
  • इस कोड के वजह से ही कुछ लोग आपके साइट पर आकर रजिस्टर करना पसंद नहीं करते। जैसे कि मान लीजिए आपके साइट पर अकाउंट या रजिस्ट्रेशन के लिए कैप्चा सॉल्व करना पड़ता हो। तो कुछ लोग रजिस्ट्रेशन करना ही छोड़ देते हैं। जिससे कि आपको रियल stable ट्रैफिक खोना पड़ सकता है।
  • बहुत समय बर्बाद होता है अगर एक डिफिकल्ट कैप्चा कोड आपके सामने आ जाए। क्योंकि शायद वो एक बार मैं सॉल्व ना हो, आपको पेज रिफ्रेश करके दूसरा कैप्चा कोड मंगाना पड़े।
  • आपके वेबसाइट पर अच्छे कमेंट करने वाले यूजर भी कमेंट करना पसंद नहीं करते अगर उनसे कोड सॉल्व करने को बोला जाए कमेंट करते समय, जिससे आपको एक ट्रस्टेड यूजर का कमेंट खोने का नुकसान उठाना पड़ता है

बावजूद इन सभी नुकसानों के, कैप्चा कोड सॉल्व करवाना एक बेहतर ऑप्शन है, अपने वेबसाइट को सिक्योर करने के लिए।

तो आप अपने वेबसाइट पर यह कोड इनेबल करने से जरा भी पीछे ना हटे।

इस कोड को आपके वेबसाइट पर इनेबल करने से सिक्योरिटी बढ़ जाएगी और आप अपनी वेबसाइट को हैकर और स्पैमर से आसानी से बचा सकते हैं।


Captcha कोड का भविष्य – Future of captcha code

आज विश्व में बहुत सारे मॉडर्न टेक्नोलॉजी और advanced algorithm आ चुके हैं, जो एक human brain की तरह काम करने का प्रयास कर रहे हैं।

जिससे किसी भी चीज को इंसानों की तरह सोच कर, समझ कर सॉल्व किया जा सकता है।

और यही वजह है कि जब captcha code की डिफिकल्टी को और भी बढ़ाया जा रहा है।

क्योंकि machine learning और artificial intelligence की मदद से एडवांस्ड सॉफ्टवेयर बनाए जा सकते हैं, जो कैप्चा कोड को समझने और solve करने में सक्षम हो।

इन सब कारणों की वजह से भविष्य में आपको और भी डिफिकल्ट कैप्चा कोड देखने को मिल सकता है।

जिसको solve करने में काफी दिमाग लगाना पड़ सकता है।

और अगर आप इसके presence का फ्यूचर में अनुमान लगाना चाहते हैं, तो मैं आपको बताना चाहूंगा कैप्चा कोड कहीं भी नहीं जा रहा है।

क्योंकि इसके वजह से सिक्योरिटी बहुत ही ज्यादा हद तक बढ़ जाती है और मेरे को नहीं लगता कि कोई भी अपने वेबसाइट या ऑनलाइन बिजनेस में सिक्योरिटी से कंप्रोमाइज करना चाहेगा।

आने वाले दिनों में और भी ज्यादा एडवांस और डिफिकल्ट इस प्रकार के code इस्तेमाल होते हुए आप को बहुत सारे जगहों पर नजर आएंगे।


मिलते जुलते प्रसन्न – Related Question

a. Captcha code कैसे likhe?

उतर – आप आपके सामने स्क्रीन पर देख कर captcha में दिये गये alphabets या number जो भी हो लिख सकते हैं।

b. Captcha code number क्या है?

उतर – Captcha code में जो numeric value दिये जाते हैं उसे captcha code number बोल सकते हैं, यह मुख्यतः numeric और logic based captcha में देखने मिलता है।

c. Captcha code कैसे dale?

उतर – आप keyword पर type कर के captcha code box में डाल सकते हैं।

d. Captcha code में क्या dale?

उतर – Captcha code में आप जो पूछा जाए वो डाले, जैसे की numbers, alphabets.

e. Captcha code कैसे bhare?

उतर – Captcha code देख कर आप उसके नीचे दिये गये बॉक्स में भर सकते हैं।


संक्षेप में – Conclusion

मैंने इस पोस्ट के जरिए कैप्चा कोड के बारे में सारी जानकारी आपको देने का प्रयास किया है।

मुझे उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद कैप्चा कोड से जुड़ी जानकारी जैसे captcha code kya hai, captcha code kaise solve kare या फिर captcha code क्यूँ ईस्तेमाल किया जाता है, आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा।

फिर भी अगर आपके मन में captcha code से जुड़ी कोई भी doubt हो आप नीचे के comment box में comment करके बता सकते हैं।

मैं पूरी कोशिश करूंगा आपके उस doubt का उतर देने का।

आशा करता हूं यह पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *