keyword kya hai

Keyword kya hai – जाने on-page SEO से जुडी चीजे हिन्दी में

आज हम इस उस पोस्ट के जरिए keyword से जुड़ी चीजे जैसे keyword kya hai, keyword SEO के लिए कितना important है, keyword research कैसे करे आदी चीजों को जानेंगे।

आप अगर ब्लॉगर है तो आपको बहुत अच्छे से पता होगा कि कीवर्ड का कितना जरुरत पड़ता है हमारे ब्लॉग पोस्ट में।
एक अच्छा कीवर्ड आपको लाखों रुपए कमाने को कमा कर दे सकता है।

और अभी आपको ये बता दु, की कोई भी ब्लॉगर अपना ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च तो करता ही है।

एक अच्छे ब्लॉग के पोस्ट को उठाकर देखिए वहां आपको long tail keyword से लेकर LSI Keyword तक सारे अच्छे से प्रॉपर जगह पर उपयोग किए हुए दिखेंगे।

क्योंकि google और अन्य सर्च इंजन कीवर्ड के मदद से ही लोगों को तक इंफॉर्मेशन पहुंचाते हैं।

लोग जो भी प्रश्न सर्च इंजन से पूछते हैं, वह किवर्ड के मदत से रिजल्ट निकाल कर देता है।

जो पुराने और एक्सपर्ट ब्लॉगर है उन्हें किवर्ड रिसर्च में कोई ज्यादा दिक्कतो का सामना नहीं करना पड़ता।

लेकिन न्यू ब्लोग्गेर्स को दिक्कत होती है, जो अपना नया नया ब्लॉग शुरू करते हैं।

और उन्हें SEO के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती लेकिन कुछ अच्छे Keywords की वज़ह से उनके ब्लॉग कर Traffic आने शुरू हो जाते हैं।

मैंने Beginner ब्लोग्गेर्स को देखा है, वो अच्छा पोस्ट लिखने के वाबजूद keywords का ढंग से ईस्तेमाल नहीं कर पाते ब्लॉग पोस्ट के अंदर।

और अच्छे से पोस्ट लिखने के बाद भी ब्लॉग पर Traffic ना के बराबर होता है।

खुदा सोचो क्या फायदा है ऐसे ब्लॉग को लीखने का, जो कोई पढ़े ही नहीं।

और अगर आप चाहते हैं, कि आपका ब्लॉग कोई पढ़े, तो कीवर्ड का अच्छे से इस्तमाल करना पड़ेगा।

ताकि वो ज्यादा से जादा लोगों तक पहुंच सके सर्च इंजन की मदद से।

अगर आप भी एक नए ब्लॉगर है और अपने ब्लॉग के लिए अच्छे अच्छे कीवर्ड पाने में मुश्किलों का सामना कर रहे हैं तो यह पोस्ट आपके लिए है।

इस पोस्ट में मैं Keyword से जुड़ी सारी बातें करूंगा और आपके सारे confusions को दूर करने की कोशिश करूंगा।

बहुत चीजें आपको अच्छे से समझ मे आ जाएगा, इस पोस्ट के पढ़ने के बाद जैसे कि – keyword kya hai, Keyword research कैसे करें और कीवर्ड SEO के लिए क्यों महत्वपूर्ण है आदी।

नोट – आपके ब्लॉग पर 90 से 95 % ट्राफिक आपके 5 – 7 % posts के मदद से ही आते हैं।

आपको पता चल गया है किवर्ड का कितना महत्व रखता है ब्लॉग पर Traffic लाने के लिए।

तो चलिए बिना देरी किए जानते हैं Keyword से जुडी सारी बातें।


Keyword क्या है – (keyword kya hai in hindi)

कीवर्ड को हम एक phrase और एक sentence बोल सकते हैं, जिसको हम अपने ब्लॉग पोस्ट में use करते हैं।

Keyword सिर्फ ब्लॉग पोस्ट के बॉडी में नहीं, बल्कि heading, title और paragraph हर जगह प्रयोग होता है।

Phrase को ही हम SEO के भाषा में कीवर्ड कहते हैं।

जिसका प्रयोग अच्छे प्रकार से अपने ब्लॉग पोस्ट में करना होता है SEO के लिहाज से।

अगर और भी आसान भाषा में समझना चाहते हैं तो आप कीवर्ड को ऐसे समझ सकते हैं।

जब आप कोई भी चीज से जुड़ी जानकारी पाना चाहते हैं, तो google या फिर किसी सर्च इंजन में sentence टाइप करके, या phrase को लिखकर सर्च करते हैं, उस phrase को कीवर्ड बोला जाता है।

नोट – कीवर्ड कि लंबाई बढ़ि या छोटी दोनों हो सकती है। जिसे हम short tail और long tail कीवर्ड के नाम से जानते हैं।

चलिए हम इसे उदाहरण की मदद से समझने की कोशिश करते हैं।

मान लीजिये आपने google में सर्च किया “Blog kya hai” – यह एक phrase है लेकिन SEO की भाषा में इसे हम कीवर्ड बोलेंगे।

चलिए और भी एक बड़ा उदाहरण लेते हैं, मान लीजिए आप ने गूगल पर सर्च किया, What is affiliate marketing या फिर affiliate marketing क्या है।

यह दोनों query जो आप गूगल में सर्च कर रहे हैं, इन दोनों कीवर्ड इसके हिसाब से ही गूगल, रिजल्ट निकालकर आपके सामने रखेगा।

आप कभी भी एक अच्छा ब्लॉग लिखते हैं तो आपको कीवर्ड को टारगेट करना ही पड़ेगा, क्योंकि एक अच्छा SEO फ्रेंडली आर्टिकल बिना कीवर्ड रिसर्च के नहीं लिखा जा सकता है।

इसके साथ आपको कुछ बात का ध्यान भी रखना पड़ता है।

जैसे ज्यादा कीवर्ड अपने पोस्ट में बेढंगे तरीके से इस्तेमाल ना करें।

user interface को भी समझना आपके लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि जब आप कीवर्ड को यूज करते हैं अपने पोस्ट में, वहां उसका मतलब निकलना चाहिए।

बेवजह टारगेटेड कीवर्ड को हर जगह पोस्ट में यूज़ करना गूगल के रूल का violation करना है।
जिसके लिए कीवर्ड stuffing के मामले में आप के ब्लॉग को बैन भी किया जा सकता है।

Keyword को अगर आप SEO के तरीके से प्रयोग कीजिएगा, तो उसके लिए आपको बहुत अच्छे से SEO की जानकारी चाहिए होगी।

लेकिन आप चिंता ना करें मैं बेसिक तरीके से Keyword का इस्तेमाल की जानकारी यहां पर दे दूंगा।

जिससे कि आप अपने ब्लॉग पर अच्छे से कीवर्ड का इस्तेमाल करके लाखों ट्राफिक पा सके।


Keyword के प्रकार – Types of keywords in hindi

अब हम जान चुके हैं, कि keyword पोस्ट में इस्तेमाल करना जरूरी है, और keyword kya hai.

लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि कौन सा keyword अपने पोस्ट में कहां पर उपयोग करना है, उसके लिए हमें उसके प्रकार को समझना होगा, कीवर्ड के डिफरेंट-डिफरेंट types को जानकर ही हम डिसाइड कर सकते हैं कि कौन सा keyword कहां पर इस्तेमाल करना है।

1. Short Tail keywords

छोटे phrases और keywords को हम Short tail keyword बोलते हैं।

इस प्रकार के कीवर्ड 1 से 3 words के आसपास होते हैं।

short tail कीवर्ड को हम head कीवर्ड के नाम से भी जानते हैं।

इस प्रकार के कीवर्ड्स का search volume बहुत ही ज्यादा होता है, लेकिन कंपटीशन की भी कोई कमी नहीं होती।

इन keywords को अगर हम टारगेट करने जाएंगे तो बहुत ही ज्यादा कंपटीशन फेस करना पड़ेगा।

उदाहरण – What is hosting, SEO आदी।

2. Long tail keywords

3 से ज्यादा वर्ड का इस्तेमाल जिस कीवर्ड में होता है उसे हम long-tail कीवर्ड के नाम से जानते हैं।

जैसे – How to earn money online?

Long tail keywords का search volume बहुत ही कम होता है।

और इसमें कंपटीशन भी बहुत कम मिलता है।

आप इस प्रकार के कीवर्ड को टारगेट करके जल्दी से जल्दी गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक कर सकते हैं।

Long tail keywords का एक और फायदा यह है कि ज्यादातर यूजर का search intent इस प्रकार के कीवर्ड से पूरा होता है।

3. Short term keyword

इस प्रकार के कीवर्ड, छोटे समय के लिए काम करते हैं और यह काफी हद तक current event से रिलेटेड होते हैं।

उदाहरण – चंद्रयान – 2

उदाहरण में आप देख सकते हैं चंद्रयान – 2, यह जो कीवर्ड है, सिर्फ छोटे समय के लिए ट्रेंड में जायेगा, और काफी लोग कुछ समय तक ही इसे सर्च करेंगे।

तो आप इस कीवर्ड को टारगेट करके ब्लॉग पोस्ट लिखकर बहुत सारा ट्रैफिक अपने ब्लॉग पर ला सकते हैं लेकिन कुछ समय के लिए।

4. Evergreen keyword

Evergreen कीवर्ड long-term के लिए होते हैं।

आप इस प्रकार के कीवर्ड को अपने ब्लॉग पोस्ट में टारगेट करके सालों साल तक बहुत सारे ट्रैफिक अपने ब्लॉग पर ला सकते हैं।

Evergreen keywords का इस्तेमाल ज्यादातर Information provide करने के लिए किया जाता है।

उदाहरण – Affiliate marketing

इस प्रकार के कीवर्ड्स को टारगेट करके ब्लॉग पोस्ट लिखते समय काफी ध्यान रखें क्योंकि आपको कंपटीशन face करना पड़ सकता है।

और अगर सबसे आगे निकलना है तो उनसे बेहतर ब्लॉग पोस्ट्स लिखना पड़ेगा।

Long term keyword काफी समय तक फायदा देते हैं।

इस वजह से बहुत सारे ब्लॉगर्स इस प्रकार के कीवर्ड को टारगेट करके ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं।

5. Customer defining

Customer defining कीवर्ड का इस्तेमाल किसी भी customer को टारगेट करने के लिए किया जाता है।

इन सारे कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते समय आपको ध्यान में रखना होता है कि जिसको आप टारगेट कर रहे हैं आखिर वह कौन है, कितना ओल्ड है या किस जेंडर का है आदि।

उदाहरण – Best jeans for girls.

उदाहरण में लिए गए कीवर्ड देख सकते हैं इसमें खासकर लड़कियों को टारगेट किया गया है, और इसमें बताया गया है कि जो jeans है वह लड़कियों के लिए है।

6. Geo Targeting keywords

Geo targeting keywords, Local SEO के अंदर आता है।

और इस प्रकार के कीवर्ड का इस्तेमाल लोकल बिजनेसेस को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

इस प्रकार के कीवर्ड का इस्तेमाल करके आप अपने अगल-बगल के जगहों के लोगों टारगेट करते हैं।जैसे city, state और उसके बाद country.

Geo targeting keyword लोकल business वेबसाइट पर local SEO करने के लिए काफी हद तक महत्वपूर्ण है।

जैसे मान लीजिए आप अपने शहर में कोई भी शॉप खोले हैं, जो ब्रोकरी का सर्विस प्रोवाइड करता है।

तो आपको local SEO करके Geo targeting keyword का इस्तेमाल करके अपने वेबसाइट को टॉप में rank कराना होगा।

ताकि आपके सिटी से जब भी कोई व्यक्ति बेस्ट बेकरी स्टोर सर्च करें तो आपका वेबसाइट सबसे पहले search engine result page (SERP) में show हो सके।

7. Product defining

इस प्रकार के कीवर्ड का इस्तेमाल किसी भी प्रोडक्ट को डिस्क्राइब करने के लिए किया जाता है।

कोई भी इंटरनेट यूजर Product defining कीवर्ड को किसी भी प्रोडक्ट खरीदने से पहले सर्च करता है।

आप जब प्रोडक्ट डिफाइनिंग कीवर्ड का इस्तेमाल ब्लॉग पोस्ट में करते हैं, तो यह ध्यान जरूर रखें कि जितना हो सके उतना डिटेल में Blog posts लिखने का प्रयास करें।

उदाहरण – Best Air conditioner

यहां पे उदाहरण में लिया गया किवर्ड best air conditioner, best air conditioner कंडीशनर को डिफाइन कर रहा है।

और अगर आप इस कीवर्ड पर ब्लॉग पोस्ट्स लिखते हैं तो जितना हो सके उतना detail में लिखना होगा।


LSI कीवर्ड क्या है – What is LSI keyword

Lsi keword example

LSI कीवर्ड किसी भी ब्लॉग पोस्ट के टारगेटेड कीवर्ड से जुड़ा होता है।

अगर आप कोई भी कीवर्ड को अपने ब्लॉग पोस्ट में टारगेट करते हैं जैसे SEO, आपके ब्लॉग पोस्ट में targeted keyword से related कीवर्ड जैसे On-page SEO, Off Page SEO, Technical SEO or Local SEO यह सभी LSI कीवर्ड हैं।

LSI का full form Latest Sementic Indexing है।

आप LSI कीवर्ड्स को कभी-कभी synonyms और primary keyword का substitute के तौर पर भी देख सकते हैं।
आप उदाहरण के तौर पर screenshot में देख सकते हैं।

इसके अलावा यह एक method है, जो सर्च इंजन बोट्स की मदद करता है यह पता लगाने में कि आपके पोस्ट में कीवर्ड और कंटेंट में क्या रिलेशन है।

जैसा कि आपको पता है, आपके पोस्ट को सर्च इंजन बोट्स स्क्रॉल करते हैं।

LSI method से सर्च इंजन बोट्स मेन कीवर्ड हर जगह ढूंढते हैं जैसे की हेडिंग, टाइटल, पैराग्राफ आदि में।
और इसी मेथड से उन्हें कीवर्ड डेंसिटी का भी पता चलता है।

कीवर्ड अप्राकृतिक रूप से विभिन्न जगहों पर प्रयोग करना सर्च इंजन के रूल का violation करना है।

प्रयास करें कि आप मेन कीवर्ड और उससे रिलेटेड कीवर्ड को अपने पोस्ट के अंदर सही जगह पर प्राकृतिक रूप से रखे।

कीवर्ड्स या phrase का उपयोग कंटेंट टाइटल और हेडिंग में करके आप अपने पोस्ट को सर्च इंजन फ्रेंडली बना सकते हैं।

सर्च इंजन bots काफी स्मार्ट है और keywords stuffing करके उन्हें बेवकूफ बनाने की कोशिश कभी भी ना करें।


Keyword density क्या होता है

पूरे आर्टिकल्स में हम अपने टारगेट कीवर्ड्स को बहुत बार यूज करते हैं और हम कितनी बार अपने टारगेट कीवर्ड को अपने blog post में यूज कर रहे हैं उसे हम कीवर्ड डेंसिटी से measure करते हैं।

कीवर्ड डेंसिटी परसेंटेज में बताया जाता है।

ब्लॉग पोस्ट में 100 words में टारगेटेड कीवर्ड्स को कितनी बार यूज किया गया है, उससे परसेंटेज निकाल कर कीवर्ड डेंसिटी डिसाइड किया जाता है।

उदाहरण – मान लीजिए कि आपने 100 वर्ड के पैराग्राफ के अंदर टारगेटेड कीवर्ड को 2 बार प्रयोग किया है, तो keywprd density 2% होगी, अगर आप 100 वर्ड के पैराग्राफ के अंदर टारगेटेड की वर्ड को तीन बार प्रयोग करते हैं keyword density 3% होगी।

अगर सर्च इंजन फ्रेंडली आर्टिकल लिखते हैं तो उसमें कीवर्ड डेंसिटी 1 से 3 परसेंट के बीच में होनी चाहिए।

वैसे आप अगर Yoast SEO plug-in का प्रयोग करते हैं तो ज्यादा चिंता करने की बात नहीं है, main कीवर्ड अपने नॉर्मल डेंसिटी से अगर ज्यादा होता है, तो यह plugin खुद आपको वार्न कर देगा।

अगर आप ब्लॉग पोस्ट में टारगेटेड keyword बहुत अधिक इस्तेमाल करते हैं जिससे कि keyword density हाई हो जाती है और वह उसे हम Keyword stuffing के नाम से जानते हैं।

SEO के हिसाब से keyword stuffing बहुत ही खराब चीज है, अगर आपके पोस्ट में ज्यादा कीवर्ड stuffing किया गया है तो गूगल उस पोस्ट को कभी रैंक नहीं करेगा या फिर आपके ब्लॉग को penalize भी कर सकता है।

मेन और टारगेटेड कीवर्ड को heading, title और paragraph में ढंग से ईस्तेमाल करें और कीवर्ड डेंसिटी 3% के नीचे रखें।

मैं आपको सलाह दूंगा कि आप Yoast SEO या Rank math plugin का प्रयोग करें, कीवर्ड डेंसिटी वह plug-in खुद show करेगा।

और जरूरत से ज्यादा या जरूरत से कम टारगेटेड कीवर्ड आपके पोस्ट में होने से आपको वार्न करेगा जिससे आप कीवर्ड डेंसिटी को कम या ज्यादा कर सकते हैं।

जैसा कि आपको पता है आप जैसे ही पोस्ट पब्लिश करते हैं सर्च इंजन bots आपके पोस्ट को crawl करके कीवर्ड डेंसिटी को चेक करते हैं।

और डिसाइड करते हैं, टारगेटेड कीवर्ड कौन सा है।

उसके बाद उस कीवर्ड पर आपके पोस्ट को रैंक करा देते हैं, कीवर्ड डेंसिटी नॉर्मल होनी चाहिए जिससे कि आपको रैंकिंग अच्छी मिल सके।


Keyword research कैसे करें – How to do keyword research

कीवर्ड रिसर्च एक लंबा process है और आप इसे 1 मिनट के अंदर नहीं कर सकते।

कीवर्ड रिसर्च करने के लिए सबसे पहले Primary कीवर्ड डिसाइड कर लें।

यह वो Keyword होगा जिसे आप अपने ब्लॉग पोस्ट में टारगेट करना चाहते हैं।

उसके बाद उस कीवर्ड से रिलेटेड कीवर्ड्स ढूंढने का प्रयास करें।

उसके अलावा LSI keywords, long-tail keywords आदि भी आपको ढूंढना पड़ेगा।

इसके लिए काफी सारे paid और free keyword research tool अवेलेबल है।

उसके अलावा आप अच्छे प्लेटफॉर्म जैसे कि Quora, Linkedin, Amazon आदि का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

इन सारे प्लेटफार्म की मदद से आप बहुत सारे कीवर्ड्स निकाल सकते हैं, अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए।

लेकिन ध्यान में यह रखें कि आपको जो भी कीवर्ड निकालना है, वह आपके मेन कीवर्ड से रिलेटेड होना चाहिए, जिसको आप अपने ब्लॉग पोस्ट में टारगेट करने वाले हैं।

उसके बाद आप सर्च इंजन में अपने टारगेटेड कीवर्ड को सर्च करके उस कीवर्ड से रिलेटेड सारे चीज को भी अपने ब्लॉग पोस्ट में mention कर सकते हैं।

चलिए इस प्रोसेस को हम एक उदाहरण से समझते हैं जिससे कि आपको काफी आसानी हो जाएगी कीवर्ड रिसर्च करने में।

सबसे पहले मेन कीवर्ड और प्राइमरी कीवर्ड डिसाइड कर लीजिए, जैसे कि हम यहां पर affiliate marketing अपने प्राइमरी कीवर्ड के तौर पर select करते हैं।

अब हम सबसे पहले कीवर्ड रिसर्च टूल की मदद से इसकी वर्ड से के रिलेटेड की वर्ड निकालने की कोशिश करेंगे।

-> जैसे मान लीजिए मैंने ubersuggest का इस्तेमाल करके affiliate marketing से रिलेटेड कीवर्ड निकालने का कोशिश किया है।

-> उसके बाद हम Quora और Amazon का भी इस्तेमाल करके main keyword से रिलेटेड कीवर्ड्स निकालने की कोशिश करेंगे।

-> इसको करने के बाद, अब हमें अपने main keyword के रिलेटेड long-tail keyword को निकालना होगा, उसके लिए हम Answer the public tool का इस्तेमाल करेंगे।

-> Long tail keyword निकालने के बाद अब हम सर्च इंजन रिजल्ट में अपने टारगेटेड कीवर्ड को सर्च करके उस से रिलेटेड सर्च querry और keyword वहां से उठाएंगे।

इन सारे की कीवर्ड्स का लिस्ट बनाकर आप अपने ब्लॉग पोस्ट में सही ढंग से इस्तेमाल कर सकते हैं।
आशा करता हूं कि keyword research करने का आईडिया आपको मिल गया हो।


Focus keyword क्या है

फोकस कीवर्ड को आप टारगेटेड कीवर्ड भी बोल सकते हैं।

और यह एक ऐसा कीवर्ड होता है जिसको आप अपने ब्लॉग पोस्ट में ब्लॉगर्स टारगेट करते हैं।

कोई भी ब्लॉग पोस्ट एक फोकस कीवर्ड के इर्द-गिर्द लिखा जाता है और उस फोकस कीवर्ड्स से मिलते जुलते कीवर्ड भी ब्लॉग पोस्ट में जोड़े जाते हैं।

जिससे उस ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन फ्रेंडली बनाया जा सके।

फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल On-page SEO के मामले में बहुत ज्यादा मायने रखता है।

और उस फोकस कीवर्ड को सोच कर ही किसी भी ब्लॉग पोस्ट का On-page SEO, plugin की मदद से किया जाता है।

जैसे कि मान लीजिए कि हमारा फोकस कीवर्ड है “ब्लॉग क्या है” अब इस फोकस कीवर्ड को आप को कम से कम 1% से 2% कीवर्ड density के हिसाब ब्लॉग पोस्ट में जोड़ना होगा।

इसके अलावा मिलते जुलते कीवर्ड्स जैसे कि “ब्लॉगिंग क्या है”, “ब्लॉगर क्या है” यह सारे भी उस ब्लॉग पोस्ट में जोड़ना आवश्यक हो जाता है, अगर आप एक अच्छा SEO Friendly आर्टिकल लिख रहे हैं।


Keyword का क्या महत्व है SEO में – Importance of Keyword in SEO

जब कोई भी कीवर्ड्स या phrase सर्च इंजन में डाल कर सर्च करता है तो search किये गये कीवर्ड से रिलेटेड रिजल्ट show होता है।

अगर आप अपने पोस्ट में वह कीवर्ड डालेंगे ही नहीं तो सर्च रिजल्ट में कैसे आएगा।

खासकर on page SEO में कीवर्ड्स का बहुत ही ज्यादा महत्व है।

ब्लॉग पोस्ट में कीवर्ड्स का सही जगह पर इस्तेमाल करके बहुत ही अच्छे ढंग से On Page SEO किया जा सकता है।

कीवर्ड्स के वजह से आपका ब्लॉग पोस्ट गूगल में रैंक करता है और गूगल उसका सही पोजीशन सेट करता है।

गूगल का मुख्य मकसद है यूजर को एक अच्छा और सटीक उत्तर प्रदान करना जिस बारे में यूजर सर्च कर रहा है।और यह सारी चीजें बिना कीवर्ड के नहीं हो सकता।

Keyword वह चीज है जिसकी वजह से गूगल आपके query के हिसाब एक परफेक्ट रिजल्ट लाकर आपको प्रदान करता है।

कीवर्ड्स के ही वजह से सर्च इंजन bots को पता चलता है कि आप किस बारे में अपने ब्लॉग पर पोस्ट लिख रहे हैं।

चलिए मैं इसको और विस्तार में समझाने की कोशिश करता हूं।

मान लीजिए आपने Affiliate Marketing पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखा तो वह गूगल को कैसे पता चलेगा कि आपने किस टॉपिक पर पोस्ट लिखा है।

इसको बताने के लिए आपको अपने पोस्ट में Affiliate marketing जो कि प्राइमरी कीवर्ड है और उस से रिलेटेड जैसे कि Affiliate marketing plugin, Affiliate links, Affiliate marketing platforms आदि कीवर्ड्स का इस्तेमाल करने से ही गूगल को आपके कीवर्ड और कंटेंट में रिलेशन पता चलेगा।

तब जाकर गूगल समझेगा कि आपने Affiliate marketing पर एक पोस्ट लिखा है।

आप खुद सोचिए कि SEO के हिसाब से keyword आपके पोस्ट में कितना महत्व रखता है।

बिना कीवर्ड का इस्तेमाल किए आप अपने ब्लॉग पोस्ट को किसी भी सर्च इंजन में रैंक नहीं करा सकते।

कीवर्ड का इस्तेमाल ब्लॉग पोस्ट में करने के साथ-साथ आपको यह भी ध्यान रखना होता है कि कीवर्ड को सही ढंग से किस जगह पर प्लेस करें ताकि सर्च इंजन मे अच्छी रैंकिंग मिल जाए।

इसके बाद कीवर्ड डेंसिटी भी देखनी होती है कि आपके प्राइमरी कीवर्ड को ब्लॉग पोस्ट में कितनी बार प्रयोग करना है।

नोट – इन दोनों चीजों के बारे में पोस्ट में नीचे डिस्कशन किया हूं आप वहां जाकर अच्छे से समझ सकते हैं।

जैसा कि आपको पता है कोई भी यूजर जब सर्च इंजन में कुछ कीवर्ड या फ्रेज इंटर करके सर्च करता है।

तो जो भी रिजल्ट सबसे ऊपर आते हैं सर्च इंजन रिजल्ट पेज में वह यूज़र के पूछे गए phrase को अच्छी तरह से एक्सप्लेन करते हैं।

अगर आप भी किसी कीवर्ड को टारगेट करते हैं और अगर सर्च इंजन रिजल्ट पेज में सबसे ऊपर रैंक कराना चाहते हैं तो आपको भी अपने ब्लॉग पोस्ट में टारगेटेड कीवर्ड को सही ढंग से इस्तेमाल करना पड़ेगा जिससे कि आपके ब्लॉग पोस्ट का On page SEO सही ढंग से हो पाय।

आशा करता हूं कि आपको अब समझ में आ गया होगा कि कीवर्ड कितना महत्वपूर्ण है SEO के लिए।

आइए अब आगे हम जानते हैं कि कीवर्ड का सही ढंग से अपने ब्लॉग पोस्ट में कहां-कहां इस्तेमाल करें, जिससे कि सर्च इंजन में अच्छी रैंकिंग मिल पाए।


Blog posts में keyword का इस्तेमाल कैसे करते हैं

कोई भी ब्लॉग पोस्ट लिखते समय कीवर्ड का इस्तेमाल बहुत सही ढंग से करना जरूरी होता है।

आप टारगेटेड कीवर्ड के अलावा उस से रिलेटेड कीवर्ड ढूंढ के रखें और उसे भी अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखने की कोशिश करें।

ध्यान रखें की, कीवर्ड ईस्तेमाल करते समय जो सेंटेंस आप लिख रहे हैं, उसका मतलब निकलना चाहिए कहीं भी बिना मतलब कीवर्ड का प्रयोग ना करें।

आप अपने मन से कीवर्ड से जुड़े कुछ प्रश्न भी ढूंढ के अपने पोस्ट में उसे आंसर कर सकते हैं।

प्रश्न ढूंढने के लिए Answer the public सबसे अच्छा वेबसाइट है, जो आपको बहुत सारे प्रश्न आपके मेन कीवर्ड से जुड़ी हुई बता देता है।

जिसको आप पोस्ट में लिखकर अच्छा SEO अपने ब्लॉग पर कर सकते हैं।

Blog post के अंदर Keyword placement कहाँ करे

एक ब्लॉग पोस्ट के अंदर बहुत सारे सेक्शन होते हैं जैसे की हेडिंग, टाइटल, पैराग्राफ और लास्ट में कंक्लुजन।

तो main keyword को इन जगहों पर बहुत ही सावधानी से रखना होता है।

क्योंकि अगर आप SEO friendly आर्टिकल लिख रहे हैं, तो आप को मेन कीवर्ड हेडिंग, पैराग्राफ और बहुत सारे महत्वपूर्ण जगह पर अवेलेबल होना चाहिए।

जिससे कि सर्च इंजन bots को आपके पोस्ट को समझने में आसानी होती है और आपके ब्लॉग पोस्ट को अच्छी रैंकिंग मिलती है।

चलिए मैं आपको नीचे दिए गए लिस्ट के द्वारा बता दूं कहां-कहां main keyword का प्रयोग अपने ब्लॉग पोस्ट के अंदर करें।

1. ब्लॉग के टाइटल के अंदर।

2. Permalink में main keyword का इस्तेमाल जरूर करें।

3. पहले पैराग्राफ में।

4. Headings और Subheadings में।

5. इमेज Alt tag में।

6. Meta description में।

ऊपर दिए गए सारी जगह में मेन कीवर्ड का प्लेसमेंट करें और कीवर्ड डेंसिटी को लिमिट के अंदर रखने की कोशिश करें।

कीवर्ड प्लेसमेंट के इस On Page SEO तरीके को फॉलो करके देखें, आपके ब्लॉग पोस्ट बहुत ही अच्छे तरीके से सर्च इंजन में रैंक करेगा और भर भर के ट्रैफिक आपके वेबसाइट पर मिलेगा।


संक्षेप में – Summary

Keyword research किये बिना Blog post लिखना ब्यर्थ है।

कीवर्ड को अपने ब्लॉग पोस्ट में सही जगहों पर ईस्तेमाल करे जिससे आपके ब्लॉग पोस्ट्स की visibility बहुत हद तक बढ़ जाती है।

आसा करता हूँ आपको keyword kya hai पोस्ट अच्छा लगा होगा।

अगर अच्छा और valuable लगा तो शेयर जरूर करे।

ताकी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक Information पहुच सके।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *